Search

missionsamriddhee

“समृद्धि की रोटी “

​”मिशन समृद्धि”अपनी ड्यूटी जिस तत्परता से निर्वाह कर रही है शायद सरकारी तंत्र भी इसके आगे कमजोर पड़ जाएगी ।

भयंकर गर्मी में भी अपने निर्धारित जगहों से रोटी लेकर   निर्धारित स्थानों में इस टीम के सदस्य रोटी वितरण करती रही ।

जितने दिनों तक रोटी बंटी है उन सब दिनों से आज का दिन कठिन परीक्षा की घड़ी थी।वैसे तो आज दिनभर जम कर बारिश हूई है।शाम को हल्की रिमझिम फ ुहार थी जिसमें हमलोगों ने घर-घर से रोटी लेते हुए डालटन गंज के कचरवा डैम की ओर चल पड़ी ।जैसे ही कचरवा मुहल्ले के तरफ रुख किया गया वैसे ही रिमझिम फ ुहार मोटे-मोटे बूॅदों में तब्दील हो गयी ।

किस तरह से हमलोंगो ने लम्बा रास्ता तय किया काश कि इस दृश्य की तश्वीरे आपको दिखा पाती ।दोनों हाथ रोटी के झोले और छाता से बंधे हुए थे ।

हमलोग खुद से ज्यादा उनलोंगो के लिए परेशान थे कि वे लोग रोटी लेने कैसे आ पाऐंगे ? लेकिन हत्प्रभ थी यह देखकर कि उतनी अधिक बारिश में भी कुछ लोग छाता और ज्यादातर लोग boda से अपने को ढँककर रोटी का इन्तजार कर रहे थे ।

हमलोग अपनी कठिनाइयों को भूलकर काफी खुश थे कि उनका इन्तजार बेकार नहीं गया ।

मानवता की सच्ची पूजा शायद इसी का नाम है जिसे देखकर तसल्ली मिलती है।

उन क्षणों की तश्वीरे बारिश कीमत वजह से ले पाना संभव नहीं था ।कल पोखराहा पंचायत के कोवा बांग्ला में रोटी वितरण किया गया था जिसकी तश्वीरे हैं ।वहाँ भी कल पानी में हमलोग फंसे थे लेकिन वो भयावह नहीं था ।

यह अभियान सिर्फ अभियान नहीं है निश्चित रूप से इन्सानियत के तौर पर एक मिसाल है।

“शिक्षक दिवस”

मिशन-समृद्धि”

कल “समृद्धि की पाठशाला”में शिक्षक दिवस मनाया गया ।बच्चों ने काफी उत्साह से इसका आयोजन किया ।इनमें शिक्षकों के प्रति अपार श्रद्धा देखी गईं ।इन बच्चों में sixth month में ही कायाकल्प होता नजर आ रहा है।इसका मतलब है कि इनमें भी कुछ अच्छे करने की लोलुपता है जरूरत है सिर्फ इनके अ न्दर की प्रतिभा उभारने की जिसके लिए जरूरत होती है एक प्लेटफार्म की जो मिशन-समृद्धि”ने प्रदान किया है।

इन बच्चों में सांस्कृतिक कार्याक्रमों के प्रति गहरी रूचि है ।पढ़ाई के प्रति बहुत ही सजग हैं जबकि इस स्कूल में आने से पहले इन्हें अक्सर देखा जाता था बकरी चराते हुए ,कचरे में कुछ ढूँढते हुए वगैरह-वगैरह ।

यह पाठशाला ऐसे ही बच्चों को एक अच्छा नागरिक बनाने  में दृढ़ संकल्प है।कल शिक्षकों ने अपने भाषणों के द्वारा इस दिवस की गरिमा पर प्रकाश डाला ।

बच्चों ने चीट के द्वारा शिक्षकों को भी कुछ न कुछ करने पर बाध्य किया जो काफी दिलचस्प था ।

15 th August को बच्चों ने इनाम जीता था इस इनाम की घोषणा प्रो (डॉ)सरिता कुमारी ने की थी ।उनकी माँ का जन्मदिन भी 5th September को ही है अतः इनाम भी प्रो. सरिता कुमारी ने स्वयं दिया ।मजा तब बहुत आया कि जब बच्चों ने जोरदार आवाज में कहा-Happy birth day to Nani…….

पुनः “पतंजलि”ने अपने स्वदेशी उत्पादन से बच्चों को रू-ब-रू कराया और अपने उत्पादों को बच्चों और शिक्षकों के बीच वितरण किया ।

पतंजलि से आए राजीव जी ममता शरण जनार्दन अग्रवाल अजय गुप्ता एवं साथ में आए संस्कार भारती के पदाधिकारी नवीन सहाय जी का यह पाठशाला आभार प्रकट करती है।

इस अवसर पर अहिल्या गिरी बैजन्ती गुप्ता सीमा सहाय अमन चक्र देव प्रकाश आदि उपस्थित थे ।

बच्चों के अभिभावकों ने भी इस अवसर पर आकर पाठशाला के प्रति अपने उ द्गगार व्यक्त किए उन्हें भी यह पाठशाला धन्यवाद देती है।

“मिशन समृद्धि”

​कल और आज यानिकि शनिवार एवं रविवार को रेलवे परिसर में समृद्धि की रोटी का वितरण हुआ ।उससे पहले शनि एवं रवि को तीज के कारण रोटी संग्रह नहीं हो पाया था ।इसलिए वितरण भी नहीं हो पाया जो दुखद था ।यह दो दिन बेलवाटिका म ुहल्ला डालटन गंज से भोजन प्राप्त होता है। 

भोजन देने वाले सभी सम्मानित नागरिकों का “मिशन-समृद्धि” आभार व्यक्त करती है।

Blog at WordPress.com.

Up ↑